गाँधी हिन्दुस्तानी भाषा के समर्थक थे
चुनाव, भाषा और लोकतंत्र