हमारा पैनल

Kritika Agrawal

"वर्ष के हिंदी शब्द' की चयन प्रक्रिया मेरे लिए एक सुखद अनुभव रहा। शब्द का चयन मुश्किल प्रक्रिया के माध्यम से पारित, गहन चर्चाओं के कई दौर से हो कर किया गया है। मेरा यह विश्वास है कि ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी प्रेस द्वारा यह हिंदी भाषा के लिए अनोखी पहल हिंदी भाषा के समृद्ध इतिहास को आने वाली पीढ़ियों के लिए उपलब्ध करवाने में एक प्रमुख पड़ाव पार करने समान है। जिस उत्साह से लोगों ने इस गतिविधि में अपने सुझावों द्वारा योगदान दिया है, वह इसकी प्रासंगिकता और आवश्यकता को दर्शाता है। निश्चित रूप से यह एक सराहनीय पहल है।"


Saurabh Dwivedi

"जेएलएफ की वो दोपहर. जनवरी, 2018। ऑक्सफर्ड वर्ड ऑफ द ईयर का ऐलान करना था। पूरे देश से हजारों एंट्री आई थीं। फिर निर्णायकों ने उनमें से एक चुनी। वही एक! पर सोचा, कई दर्शक तो सामने बैठे हैं तो एक बार फिर इनका मन टटोल लिया जाए। ऑडियंस से गेस करने के लिए कहा। कई शब्द फिर हवा में उछलने लगे। शोर, उत्साह, रोमांच के साथ। और आधार का ऐलान होते ही तालियां और फिर जोरदार चर्चा हुई।

ये ताकत है भाषा की। शब्द की। जहां सबके अपने जुड़ाव हैं और उनसे जुड़े तर्क भी। एक बार फिर तरकश से तर्क निकाल अपना शब्द नामित करने का वक्त आ गया है। ऑक्सफर्ड को इस आयोजन के लिए शुभकामनाएं"


Namita Gokhale


Ashok Kumar Sharma

"हिंदी के शब्द कोष की समृद्धि यात्रा में हिंदी का इतिहास कभी भी ऑक्सफर्ड  यूनिवर्सिटी प्रेसऔर ऑक्सफर्ड लिविंग डिक्शनरी के योगदान को भुला नहीं पायेगा. पिछले अनेक वर्षों से हिंदी को समृद्ध और वैश्विक भाषा बनाने में  ऑक्सफर्ड  लिविंग डिक्शनरी तमाम उन कारकों को महत्व दे रही है, जिनके कारण इस भाषा का निरंतर विस्तार हो रहा है और हिंदी के कारवाँ में नये-नये शब्द जुड़ रहे हैं. मुझे गर्व है कि इस जटिल प्रक्रिया का हिस्सा बनने का अवसर मुझे भी दिया गया है. मुझे विश्वास है कि इस वर्ष ऑक्सफर्ड हिंदी वर्ड ऑफ द ईयर आयोजन में हर हिंदी भाषी पूरे उत्साह से भाग लेकर इस वर्ष का शब्द चयनित करने में अपना योगदान देगा."  

Vijay Nandan

" ‘वर्ष का हिंदी शब्द 2018’ हिंदी ऑक्सफोर्ड लिविंग डिक्शनरीज की एक प्रशंसनीय पहल है, जो हिंदीभाषियों के लिए उपयुक्त शब्द संधान की बौद्धिक प्रक्रिया को लोकप्रिय बनाने में अत्यंत सहायक होगी. शब्द ही भाषायी समृद्धि के वाहक होते हैं और हिंदी में शब्द प्रचलन की विविध प्रक्रियाओं के पोषण हेतु सार्वजनिक प्लेटफार्मों की कमी बहुत खलती रही है. ऑक्सफोर्ड की यह पहल इस कमी की एक हद तक भरपायी कर सकेगी, ऐसा भरोसा है."


Randhir Thakur

"ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी प्रेस की तरफ से वर्ष का हिंदी शब्द 2018 (Oxford Hindi word of the year) का आयोजन करना सराहनीय कार्य है| इससे लोग हिंदी में उपयोग होनेवाले शब्दों का चिंतन-मनन कर पाएँगे| भाषा के प्रति उनका रुझान बढ़ेगा|

बचपन से ही मातृभाषा हिंदी से मेरा  विशेष लगाव रहा है|संपादक और रचनाकार के रूप में हिंदी से जुड़े होने से कई शब्दों को समझने और उनका  उपयोग कर पाने का अवसर मिलता ही रहता है| पूरे वर्ष में न जाने ,कितने शब्द नज़रों के सामने आते हैं |

  किसी एक शब्द को Oxford Hindi word of the year के लिए चुनना इतना आसान नहीं है| यह संशय तो बना ही रहेगा कि किसी शब्द के साथ नाइंसाफी न हो जाए|परन्तु भाषा संवर्धन के लिए किए गए इस आयोजन में मैं पूर्ण निष्ठा, ईमानदारी और निष्पक्ष भाव से सहयोग करूँगा|"