Oxlivdic hindi

घर की मुर्गी दाल बराबर



कृतिका अग्रवाल, ऑक्सफ़ोर्ड ग्लोबल लैंग्वेज की हिंदी भाषा विशेषज्ञ, यहाँ बात कर रही हैं हिंदी की सरलता की। हिंदी बोलने, सीखने व उपयोग में बहुत ही सरल भाषा है। हिंदी जैसे लिखी जाती है वैसे ही बोली भी जाती है जिस वजह से हिंदी सीखने वाले इसे आसानी से सीख सकते हैं व हिंदी जानने वाले अन्य भाषाएँ आसानी से सीख सकते हैं। युवा पीढ़ी हिंदी को आज शायद मुश्किल, पुरानी व अप्रचलित मानती है, लेकिन हिंदी साहित्य व बॉलीवुड आज भी विश्व में बहुत लोकप्रिय है जो हिंदी की एहमियत को बरकरार रखते हैं। हिंदी कि मूल भाषा संस्कृत है, जो कई और भाषाओं की भी जननी है जिस वजह से हिंदी के कई शब्द अन्य भाषाओं से मिलते जुलते हैं।